IAS परीक्षा की तैयारी में कितने घंटे पढ़ना चाहिए ?

सिविल सेवा में चयनित होने के लिए उसकी तैयारी में बहुत अधिक समय खपाना आवश्यक होता है अतः हर विद्यार्थी सोचता है कि उसे कितने घंटे रोज पढ़ना चाहिए इस प्रश्न के लिए सही सही उत्तर देना संभव नहीं है फिर भी इतना अवश्य कहा जा सकता है कि इस परीक्षा की तैयारी के दौरान किसी प्रकार भी समय की थोड़ी सी भी बर्बादी नहीं होनी चाहिए अभ्यार्थी यादी मनोरंजन के मूड में भी हो तो उस समय भी उसे कुछ ना कुछ ग्रहण करने का ही इच्छुक होना चाहिए अर्थात सदैव खोजी बना रहना चाहिए उदाहरण यदि वह फिल्म देख रहा है तो सिर्फ फिल्म की कहानी या अभिनय पर ही ध्यान ना दें बल्कि फिल्म निर्माता, निर्देशक, संगीत निर्देशक आदि के विषय में भी जानने की कोशिश करें और यदि वह फिल्म पुरस्कृत, हो तो इन बातों पर और अधिक ध्यान देना चाहिए|



जहां तक पढ़ने के लिए समय अवधि के निर्धारण का प्रश्न है तो यह अभ्यार्थी की निजी क्षमता पर भी काफी हद तक निर्भर करता है यदि विभिन्न विषयों को देखा जाए तो प्रतिदिन कम से कम 10 से 12 घंटे तो अवश्य ही पहना चाहिए जैसे समाचार पत्रों पर कम से कम 2 घंटे रोजाना |  फिर  पत्रिकाओं पर भी कम से कम 2 घंटे अवश्य देना चाहिए अब शेष बचे समय में सामान्य अध्ययन पर कम से कम 4 घंटे का समय देना चाहिए यदि प्रारंभिक परीक्षा निकट हो तब तो अभ्यर्थी को सिर्फ एक ही विकल्प विषय पढ़ना चाहिए 

अतः हाउस पर कम से कम चार-पांच घंटे दे सकता है परंतु यदि प्रारंभिक परीक्षा दूर हो और अभ्यार्थी मुख्य परीक्षा की तैयारी भी साथ – साथ कर रहा है तब तो उसे दो दो वैकल्पिक विषय पढ़ने होते हैं अतः उन पर कम से कम ढाई से 3 घंटे देना आवश्यक होता है इस प्रकार इस परीक्षा की तैयारी के लिए लगभग एक साल तथा विद्यार्थी को प्रतिदिन 11 से 12 घंटे पढ़ने की आदत डालनी चाहिए तभी उसकी तैयारी पूर्ण रुप से हो पाएगी इसके बावजूद भी अनेक चीजे छुट्टी रह जाती हैं जिन्हें यथासंभव खाली समय में देखने की कोशिश करनी चाहिए|


दोस्तों  अगर आप IAS या कोई भी कंपटीशन परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं तो आप एक रोटी बनाकर तैयारी करें तभी आप उस परीक्षा में सफल हो पाएंगे यह पोस्ट आपको कैसी लगी नीचे कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें और आप किस विषय में नॉलेज चाहते हैं नीचे कमेंट में वह भी लिखें|

2 comments:

Powered by Blogger.